आज भी सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई टली, अभी भी दो मेट्रो स्टेशन बंद

आज भी सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई टली, अभी भी दो मेट्रो स्टेशन बंद
File image

नई दिल्ली:

सीएए और एनआरसी के विरोध में प्रदर्शनकारी कुछ दिनों से शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे थे लेकिन अचानक रविवार को माहौल बिगड़ गया और लोग सड़कों पर आ गए, जिसके कारण कई मेट्रो स्टेशन बंद कर दिए गए रविवार के बाद सोमवार सुबह भी एहतियातन तौर पर मौजपुर और बाबरपुर मेट्रो स्टेशन को बंद रखा गया है। यहां आने वाली कोई ट्रेन स्टेशन पर नहीं रुक रही है। वहीं सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में शाहीन बाग जाने वाले रास्ते को खोलने के फैसले पर होने वाली सुवाई आज फिर टल गई है अब सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होने के बाद भी या तय होगा कि रास्ता खोला जाएगा कि नहीं।

सीए के खिलाफ हो रहा प्रदर्शन
बताते चलें कि शाहीन बाग के साथ कई और इलाके जैसे जाफराबाद, सीलमपुर में महिलाएं धरने पर बैठी हुई हैं। शनिवार रात जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के नीचे महिलाएं सड़कों पर जमा हो गई इस वजह से जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के आने और जाने वाले दोनों रास्ते को बंद कर दिया गया और वहां कोई ट्रेन नहीं रुकती पुलिस ने महिलाओं को हटाने के लिए उन्हें समझाने की कोशिश भी की ना समझने पर उन्हें खदेड़ा गया उसके बावजूद वह वापस आकर स्टेशन के नीचे बैठ गई। वहीं दूसरी ओर शनिवार को भीम आर्मी ने भी भारत बंद का आवाहन किया था भीम आर्मी के समर्थन में जाफराबाद के प्रदर्शनकारियों ने राजघाट तक मार्च निकालने को कहा था ।

सुप्रीम कोर्ट में शाहीन बाग की सुनवाई टली

सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई टली

कोर्ट की ओर से नियुक्त वार्ताकार संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन शाहीन बाग का रास्ता खाली करवाने के लिए आखरी दिन रविवार को प्रदर्शन स्थल नहीं पहुंचे। अब यह दोनों ने सोमवार को अपनी रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट में पेश की है। और सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला टाल दिया है। अब सभी पक्षों की उम्मीद सुप्रीम कोर्ट के अगले आदेश पर पर टिकी हुई है। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि कोर्ट उनके ही हक में फैसला देगा।