UP Board exams 2020: इंटरमीडिएट के बाद अब हाई स्कूल का भी यह पेपर हुए आऊट

UP Board exams 2020: इंटरमीडिएट के बाद अब हाई स्कूल का भी यह पेपर हुए आऊट
परीक्षा से पहले ही पेपर हुआ आउट

नई दिल्ली:

प्रशासनों की अटूट सतर्कता बरतने के बावजूद नकल माफियाओं ने अपना काम बंद नहीं किया और आज हाईस्कूल का पेपर भी लीक हो गया है। इससे पहले भी इंटर भौतिक विज्ञान का पेपर लीक हो चुका है। यह बामला अब तक निपट नहीं पाया कि शनिवार को हाईस्कूल का अंग्रेजी का पेपर परीक्षा शुरू होते ही वाट्सएप पर वायरल होने लगा।

दूसरी ओर पेपर की हाल कॉपी के रसड़ा, भीमपुरा,नगरा चिलकहर आदि कई इलाकों के आसपास बिकने की बात भी सामने आ रही है। क्वेशन पेपर व हल कापियों के वायरल होने के बाद शिक्षा विभाग में हड़कंप का माहौल है। चिलकहर इलाके के एक केंद्र पर डीएम और एसपी भी पहुंचे हैं, मामला कि पुख्ता जानकारी अभी पता नहीं जली है। क्यूंकि पेपर आउट होने के सवाल पर अभी तक कोई भी अधिकारी कुछ बोल नहीं रहा है।

UP board exam paper leak

बताया जा रहा है कि शनिवार को पहली पाली में हाई स्कूल  का अंग्रेजी विषय का पेपर था और पेपर के शुरू होने से पहले अंग्रेजी के पेपर की हल कॉपी आऊट हो गई। नकल माफिया के पास यह आऊट कॉपी पहुंची और वह यह भी बताते रहे कि यह किस कोड की कॉपी है और इसे किन - किन केंद्रों में भेजा गया है। हल कॉपी के वायरल होने की खबर के बाद अधिकारी मामले की जांच में जुट गए लेकिन उनके हाथ कोई सफलता नहीं आई। बल्कि इस पर पर्दा डाला गया।

बात दे बलिया के नागरानी तो इंटर की भौतिकी की परीक्षा के पहले ही प्रश्न पत्र बिकने लगे थे। एसटीएफ ने गाजीपुर में जयनाथ इंटर कॉलेज के सामने घर से इंटर भौतिक विज्ञान की 21 भरी हुई कॉपियां जमा करवाने जा रहे प्रिंसिपलअनिल पांडेय और लिपिक नितेश्वर को हिरासत में लिया है डीएम ने कहा दोनों आरोपियों पर गैंगेस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी

वहीं बृहस्पतिवार को दूसरी पाली के इंटरमीडिएट का भौतिक विज्ञान परीक्षा का एक्स वाई पेपर आज सुबह ही आउट हो गया था पेपर आउट होने के बाद इसकी जांच पड़ताल की गई और मऊ जिले की पुलिस ने प्रश्न पत्र आउट कर वायरल करने वाले 2 शिक्षकों पर मुकदमा दर्ज कर हिरासत में ले लिया है और एक की तलाश अभी भी जारी है हालांकि ई पेपर आउट होने के बाद डीएम ने 69 जिले की परीक्षा को कैंसिल करने के लिए माध्यमिक शिक्षा निर्देश को पत्र भेजा है।अभी भी बोर्ड के अधिकारी अपना पल्ला झाड़ते हुए नजर आ रहे हैं उनका कहना है कि जांच के बाद ही निर्णय लिया जाएगा