दिल्ली पुलिस हाथ पर हाथ रखे खड़ी, स्टूडेंट पर चली गोली हो सकता था बड़ा हादसा...

दिल्ली पुलिस हाथ पर हाथ रखे खड़ी, स्टूडेंट पर चली गोली हो सकता था बड़ा हादसा...
File image

नई दिल्ली:

सीएए और NRC पर देश भर में चल रहे आंदोलन को एक महीने से ज़्यादा हो रहा है, ऐसे में पुलिस ने हर जगह सुरक्षा का पूरा इंतज़ाम कर रखा है हर जगह पुलिस तैनात है।इतनी पुलिस और सुरक्षा के बाद पुलिस की लापरवाही देखने को  मिली है। दरअसल आज जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी से राजघाट तक मार्च के दौरान एक शख्स हाँथ में पिस्टल लिए आता है और चिल्ला कर बोलता है "तुम लोगों को आज़ादी चाहिए, ये लो आज़ादी और दिल्ली पुलिस ज़िंदाबाद" के नारे लगाता है, और वहाँ मौजूद भीड़ पर फायरिंग करता है। गोली  भीड़ में मौजूद जेएनयू के एक छात्र शादाब को जा लगती है शादाब जामिया के जनरलिज्म का छात्र है।इस घटना के शादाब की दोस्त आमना ने मीडिया से कहा, "हम लोग पुलिस से मदद मांग रहे थे यहां बहुत से पुलिसकर्मीत मौजूूद थे लेकिन हमें कोई मदद नहीं मिली। यहां तक कि शादाब को गोली लगी होने के बावजूद बैरिकेड फांद कर होली फैमिली अस्पताल में जाना पड़ा। शादाब के एक और दोस्त मिलन ने कहा, "शादाब को हाथ में गोली मारी गई. एक गोली उसके शरीर में फंसी है. अस्पताल में उसका सीटी स्कैन कराया गया है".

 

पुलिस की लापरवाही के कारण दुर्घटना हुई।

लेकिन गोली चलने वाले शख्स के पास ही पुलिस खड़ी थी। पर पुलिस आगे नहीं बढ़ी लोग चिल्ला रहे थे की उसके पास पिस्टल है। इसके बावजूद भी कोई पुलिस कर्मी आगे नहीं आया और जब उसने गोली चला दी तब पुलिस आती है और उसको पकड़ती है। ये घटना दोपहर 1:40 बजे घटी है। पुलिस का कहना है कि उसने अपना नाम गोपाल बताया है और खुद को नाबालिक बता रहा है।