सीबीएसई बोर्ड का नया फैसला मार्कशीट में नहीं लिखेंगे 'फेल' और 'कंपार्टमेंट

सीबीएसई बोर्ड का नया फैसला मार्कशीट में नहीं लिखेंगे 'फेल' और 'कंपार्टमेंट
File image

नई दिल्ली:

Board Exams 2020:सीबीएससी केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने छात्रों के लिए एक बड़ा फैसला लिया है।सीबीएससी के अधिकारी सन्यम भारद्वाज ने न्यूज़ चैनल से बात चित के दौरान बताया है। कि अब किसी भी विद्यार्थी की मार्कशीट पर फेल' या 'कंपार्टमेंट' नहीं लिखा जाएगा। बोर्ड एग्जाम सिस्टम को और ज़्यादा बेहतर बनाने की कोशिश और छात्रों के अच्छे भविष्य के लिए बोर्ड ने एक समिति गठित की गई है। इस समिति की अध्यक्षता सन्यम भारद्वाज ही कर रहे हैं।भारद्वाज ने कहा "एक परीक्षा से किसी विद्यार्थी का भाग्य तय नहीं हो सकता है। और इस आधार पर किसी बच्चे को 'फेल' कहना उचित नहीं है। इस  शब्द से विद्यार्थियों का मानसिक स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है और वह डिप्रेशन का कशिकर हो सकते हैं ।''

बच्चों के हित में सीबीएसई बोर्ड ने लिया फैसला मशीन पर नहीं लिखेंगे फिलोर कंपार्टमेंट

कौनसा शब्द लेगा 'फेल' व 'कंपार्टमेंट' की जगह?

बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य को देखते हुए विद्यार्थियों के हित में बोर्ड इस योजना को इसी साल से बदलाव के तौर पर लाने की तैयारी कर रही है। हालांकि बोर्ड परीक्षा 15 फरवरी से शुरू हो चुकी है। इसके बावजूद सीबीएससी की कोशिश है कि यह योजना इसी साल से लागू कर दी जाए हालांकि यह स्कूलों से आए फीडबैक पर निर्भर करता है। अगर किसी भी कारण से यह योजना इस साल लागू ना हो सकी तो इसे अगले साल लागू किया जाएगा। इस बदलाव के बाद 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षा देने वाले किसी भी विद्यार्थी की मार्कशीट पर 'फेल' या 'कंपार्टमेंट' नहीं लिखा जाएगा। इस  शब्दों की जगह लेने वाले दूसरे शब्द अभी तैयार नहीं हुए हैं। सन्यम भारद्वाज के अनुसार, 'सीबीएससी द्वारा गठित समिति देश में मौजूद सभी सीबीएससी संबंधित स्कूलों व प्रचार्यों से उनके सुझाव की मांग करेगी। उनके सुझाव से मिले शब्दों के आधार पर समिति सबसे अच्छे और सकारात्मक शब्दों का सुझाव