केजरीवाल संग छह मंत्रियों ने ली शपथ, प्रधानमंत्री से आशीर्वाद मांगते हुए कहीं यह बातें

केजरीवाल संग छह मंत्रियों ने ली शपथ, प्रधानमंत्री से आशीर्वाद मांगते हुए कहीं यह बातें
File image

नई दिल्ली:

दिल्ली से तीसरी बार मुख्यमंत्री बने अरविंद केजरीवाल ने  रविवार को रामलीला मैदान में मुख्यमंत्री की शपथ ली। केजरीवाल के साथ छह मंत्रियों ने कैबिनेट की शपथ ली। शपथ लेने वाले मंत्रियों में मनीष सिसोदिया, सत्येंद्र जैन, गोपाल राय, कैलाश गहलोत, इमरान हुसैन और राजेंद्र पाल गौतम शामिल हैं. ये सभी मंत्री केजरीवाल के मंत्रिमंडल के पुराने सदस्य हैं।

केजरीवाल ने अपने संबोधन की शुरुआत भारत माता की जय,  वंदे मातरम् और इंकलाब जिंदाबाद के नारे के साथ की। शपथ ग्रहण करने के बाद जानता को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा  "दिल्ली को दिल्ली की जनता,व्यापारी, ऑटोवाले, बस कंडक्टर, ड्राइवर, सफाई कर्मचारी चलाते हैं। साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा कि आज देशभर के कई राज्य हमारी दिल्ली के मॉडल को अपना रहे हैं। कई राज्य की जनता दिल्ली के स्वास्थ्य,अच्छी शिक्षा की मिसाल अपने नेताओं को देती हैं।

मैं सब का मुख्यमंत्री हूं।

केजरीवाल ने जनता से कहा कि चुनाव खत्म हो गया है, आप में से कुछ लोगो ने दूसरी पार्टियों को वोट दिया होगा, आपने जिसको भी वोट दिया मुझे उससे फर्क नहीं पड़ता, अब आप सारे लोग मेरे परिवार का हिस्सा हो। और मैं सबके लिए काम करूंगा। मैं पूरी दिल्ली और भाजपा कांग्रेस सहित अन्य दलों के समर्थकों का भी मुख्यमंत्री हूं।, मैंने पांच सालो में बिना किसी की जाति-धर्म पूछे सभी लोगों के लिए काम किए है। मैंने हर पार्टी के लिए काम किया है। मैंने काम करने से पहले ये नही कहा कि तुम दूसरी पार्टी के हो इसलिए मैं तुम्हारा काम नही करूंगा। मैंने सब के लिए बराबर काम किए हैं। कभी भी किसी को कोई भी काम हो मेरे पास आ जाना।

शपथ के बाद केजरीवाल ने कहा चाहता हूं दिल्ली को आगे बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री का आशीर्वाद

प्रधानमंत्री का आशीर्वाद चाहता हूं।

शपथग्रहण करने के बाद केजरीवाल ने कहा कि मैंने  प्रधानमंत्री को निमंत्रण भेजा था। वह नहीं आए, शायद वह किसी अन्य कार्यक्रम में व्यस्त हैं. मैं दिल्ली को और ज़्यादा विकसित करने और आगे बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री और केंद्रीय सरकार से आशीर्वाद लेना चाहता हूं। मैं सबके साथ मिल जुल कर काम करना चाहता हूं।

आलोचना करने वालो को माफ किया : केजरीवाल

केजरीवाल ने चुनाव के दौरान विरोधियों द्वारा आलोचना करने वालो को कहा कि मेरे बारे में जिसने जो कुछ भी बोला मैंने उन्हें माफ कर दिया है। केजरीवाल ने चुनाव के दौरान विभिन्न दलों के नेताओं की कड़वी बातें भुलाने की अपील करते हुए कहा चुनाव में राजनीति होती है और हुई भी हैं। लेकिन अब चुनाव खत्म हो गए हैं। और में सब के साथ मिल कर काम करना चाहता हूं। यह जीत मेरी ही नहीं बल्कि एक-एक भाई, बहन युवा और विद्यार्थी की जीत है। यह हर दिल्ली वासी की जीत है।
 

दिल्ली वालों की नई राजनीति शुरू

केजरीवाल ने कहा कि दिल्लीवालों ने विकास की एक नई तरह की राजनीति की शुरुआत की है। पूरे देश में दिल्ली की नई राजनीति का डंका बज चुका है। दिल्ली की राजनति ने महिलाओं की सुरक्षा,  स्कूल,  अच्छी सड़कों,  भ्रष्ट्रचार से मुक्ति, 21वीं सदी के भारत,चौबीस घंटे बिजली, मुफ्त बिजली, स्वास्थ्य की सुविधाओं को जन्म दिया है। अब सबके साथ मिलकर दिल्ली को खूबसूरत बनाना है।

मुफ्त योजना को लेकर विरोधियों पर निशाना

केजरीवाल ने  मंच पर अपने भाषण के दौरान विरोधयों को घेरते हुए पलटवार किया। केजरीवाल ने कहा कुछ लोग कहते हैं  कि मैं सब कुछ फ्री कर रहा हूं। सरकार द्वारा दिल्लीवासियों को दी जा रही मुफ्त बिजली-पानी और महिलाओं के लिए फ्री बस सुविधा को लेकर विरोधी मुझे बुरा बोलते हैं। दोस्तों, इस दुनिया के अंदर जो भी अनमोल चीजें हैं, भगवान ने फ्री बनाई हैं। तो क्या मैं अपने सरकारी स्कूल के बच्चो से फीस लूं। अस्पताल में इलाज के पैसे लूं, दावा के पैसे लूं , अगर मैं ये सब करू तो  लानत है मेरी ज़िन्दगी पर और ऐसे सीएम पर जो अपनी जानता के इलाज,पढ़ाई और सुरक्षा के पैसे ले।

भाषण ऐसे हुआ समापन

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने भाषण की समाप्ति 'हम होंगे कामयाब' के गीत के साथ की।