मतदान खत्म, दिल्ली में किसकी सरकार?

मतदान खत्म, दिल्ली में किसकी सरकार?
File image

दिल्ली विधासभा चुनाव के दंगल में इस बार किस पार्टी का पलड़ा भारी रहेगा इसपर सबकी नजरें टिकी हैं। आज 8 फरवरी यानी दिल्ली में मतदान का दिन था। दिल्ली की कुल 70 सीटों पर मतदान हुए थे। कई नेताओं ने भी अपने मत दान किए। शाम पाँच बजे तक दिल्ली में कुल 52.91 प्रतिशत मतदान हो चुके हैं। साथ ही दिल्ली में शाम 6 बजे तक 13,750 केंद्रों पर वोटिंग होगी।  दिल्ली के शाहीन बाग में मतदाताओं की भीड़ उमड़ी थी।

दिल्ली विधानसभा चुनाव में मतदान के लिए उमड़ी भीड़ लोगों की लंबी कतार।

 

 पोलिंग बूथों पर मतदाताओं की लंबी लाइन लगी हुई थी। लोग वोट डालने के लिए बेसब्री से अपनी बारी के इंतजार में थे। मतदान शाम 6 बजे खत्म हो गया हालांकि लाइन में लगे वोटर अपनी बारी आने तक वोट करते रहेंगे। अभिनेत्री तापसी पन्नू ने भी परिवार के साथ मतदान किया। यूपी के सीएम योगी ने भी ट्वीट करते हुए मतदाताओं से दिल्ली में परिवर्तन कि अपील की थी। वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लोगों से अधिक से अधिक वोट डालने की अपील की थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी मतदाताओं से ज्यादा से ज्यादा वोट डालने की अपील की। सीएम केजरीवाल ने अपने परिवार के साथ मतदान किया।


बदल गई है दिल्ली की सियासत 

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 की यह जंग काफी दिलचस्प साबित होने जा रही है। क्योंकि पिछले पांच सालों के दौरान दिल्ली की सियासत में काफी बदलाव देखने को मिला है। इसी के साथ से कई बड़े चेहरे आप पार्टी से दूर हो गए। केजरीवाल पर तानाशाही और मनमानी के आरोप भी लगे।बावजूद इसके मुफ्त बिजली-पानी की योजना से उन्होंने लोकप्रियता भी हरिल की और दिल्ली के लिए काफी कुछ अच्छा किया जिससे दिल्ली वासियों के दिल में उनकी अच्छी जंघा बन गई है। दूसरी तरफ भाजपा की नज़र दिल्ली पर बनी है पर केजरीवाल कि सरकर के कारण इंतजार लंबा खींच गया है।  वहीं भाजपा ने भी सियासती मुकाबले में लौटने की पूरी कोशिश करते हुए अपना प्रदेश अध्यक्ष बदल कर कमान मनोज तिवारी के हाथों में सौप दी।

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 शाम 5 बजे तक 52.91 प्रतिशत मतदान हुए

साथ ही बता दें कि कांग्रेस ने भी मुकाबले में अपनी जंघा बनाते हुए प्रदेश अध्यक्ष को बदलकर पुराने दिनों की वापसी का पूरा प्रयास किया है। वह अब भी दिवंगत शीला दीक्षित के काम को गिना रही है।  ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि दिल्ली की सियासत में इस बार कौन आता है।  
दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 में इस बार की जंग काफी दिलचस्प साबित होने जा रही है। किस पार्टी का प्रदर्शन कैसा रहेगा और किस पार्टी को कितनी सीटें मिलेंगी, यह काफी हद तक वोट शेयर पर भी निर्भर रहेगा। दिल्ली में इस बार किसकी सियासन हो गए को को चुनाव के इस जंग म हीत कर दिल्ली में  सियासत और रणनीति बनाए गा इसका नतीजा 11 फरवरी को मतों की गणना के बाद आएंगे।